लिंग निर्धारण


लिंग निर्धारण

(Sex Determination)


           माता-पिता के गुणसूत्रों या क्रोमोसोम्स का एक-एक जो़ड़ा सेक्स क्रोमोसोम्स कहलाता है। यह शिशु का लिंग निर्धारित करता है। स्त्रियों में दोनों सेक्स क्रोमोसोम्स समान आकार एवं आकृति के होते हैं तथा इन्हें x (एक्स) क्रोमोसोम्स कहा जाता है। पुरूषों (XY) में एक X क्रोमोसोम तथा दूसरा Y क्रोमोसोम होता है, जो अपेक्षाकृत छोटा होता है। जब डिम्ब (ovum) शुक्राणु के X क्रोमोसोम से निषेचित होता है तो शिशु लड़की होती हैं और यदि यही डिम्ब शुक्राणु के Y क्रोमोसोम से निषेचित होता है तो शिशु लड़का होता है।

  मानव शरीर मेन कैटेगरीज :


मानव शरीर का परिचय    |   एनाटॉमी एवं फिजियोलॉजी­     मानव शरीर संरचना के आधारभूत घटक          कोशिका       पोषण एवं चयापचय        ऊतक           पाचन संस्थान        आच्छदीय संस्थान       अस्थि-संस्थान (कंकाल-तन्त्र)      जोड़ या सन्धियां       पेशीय संस्थान        तन्त्रिका तन्त्र       ज्ञानेन्द्रिया       अन्तःस्रावी तन्त्र        रक्त परिसंचरण       लसीकीय तन्त्र   |   श्वसन-संस्थान       मूत्रीय संस्थान        प्रजनन-संस्थान