रोग कारक खाद्यपदार्थ

Bahut se rog karak khadapadarth hote hai jinka khana men prayog karane par bahut se rog sharer men utpann ho sakate hai at aise padarthon ko bahut sawadhani se prayog kiya jana chahiyen.


रोग कारक खाद्यपदार्थ

Disease generating foodstuffs


साफ्ट ड्रिंक-

एक रिर्पोट के अनुसार सॉफ्ट ड्रिंक में 40 से 72 मिली ग्राम नशीले तत्व, ग्लिसरीन, एल्कोहल, ईस्टरगम साईट्रिक एसिड व जानवरों से प्राप्त ग्लिरोल आदि पाए जाते हैं।

शौचालय में किसी भी सॉफ्ट ड्रिंक को एक घंटे के लिए डाल दें तो वह फिनायल की तरह उसे साफ करता है। कहीं पर जंग लगा हो तो सॉफ्ट ड्रिंक में कपड़ा भिगोकर रगड़ने से वह हट जाता है।शौचालय में किसी भी सॉफ्ट ड्रिंक को एक घंटे के लिए डाल दें तो वह फिनायल की तरह उसे साफ करता है। कहीं पर जंग लगा हो तो सॉफ्ट ड्रिंक में कपड़ा भिगोकर रगड़ने से वह हट जाता है। हड्डी और दांतों को गलाने में मिट्टी को कई साल लग जाते हैं। लेकिन सॉफ्ट ड्रिंक सिर्फ 10 दिनों में पर दांतों और हड्डी को गला देता है।

ऐसे खतरनाक सॉफ्ट ड्रिंक पीकर हम रसायन ही पेट में इकट्ठे कर रहें हैं और अपने आंत, जिगर आदि को नुकसान पहुंचा रहे हैं।

मैदा-

मैदा तैयार करते समय प्राकृतिक नमक, विटामिन, फुजला आदि नष्ट हो जाते हैं और सिर्फ निचले दर्जे के स्टार्च रह जाते हैं।

मैदा आंतों में चिपक जाता है। जिससे कब्ज एवं सड़न होकर रोग पैदा हो जाता है। इससे कई तरह के रोग उत्पन्न होना संभव है।

डिब्बा बंद खाद्य-

इनमें रसायन मिले होते हैं। शरीर को ये रसायन बाहर निकालने पड़ते है जिससे बिना किसी काम के शरीर व गुर्दों पर दबाव पड़ता है।

फास्ट फूड व चाईनीज फूड-

इनमें भी अजीनों मोटो या मोनोसोडियम ग्लुटामेट जैसे रसायन का मिश्रण रहता है जो धीरे धीरे पूरे शरीर में जमा होता जाता है। जिससे पूरा शरीर विषाक्त हो जाता है और कैंसर जैसे घातक रोग की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।