भार्याधिकारिक

दो प्रकार की भार्या (पत्नी) होती हैं। 1. पहली एकचारिणी अर्थात अकेली। 2. दूसरी सपत्निका (सौतों वाली)। इन दोनों में पहले एकचारिणी अर्थात अकेली वाली पत्नी को सर्वश्रेष्ठ माना गया है


भार्याधिकारिक


दो प्रकार की भार्या (पत्नी) होती हैं। 1. पहली एकचारिणी अर्थात अकेली। 2. दूसरी सपत्निका (सौतों वाली)। इन दोनों में पहले एकचारिणी अर्थात अकेली वाली पत्नी को सर्वश्रेष्ठ माना गया है..............................
बड़ी बहू नई बहू के बच्चों से अधिक प्यार करे, उसके नौकरों पर अधिक से अधिक अनुग्रह रखें, उसकी सहेलियों से प्रेम व्यवहार रखें। उसके भाई-भतीजों से स्नेह रखें। अपने भाई-भतीजों की अपेक्षा उसके भाई-भतीजों का अधिक सम्मान करें...........................