पेय पदार्थों से उपचार


पेय पदार्थों से उपचार


 आभूषण और स्वास्थ्य का एक्यूप्रेशर चिकित्सा के साथ सम्बन्ध

Acupressure chikitsa ke dwara rogon ko jaldi thik karane ke liye kuchh pey padarth liye jaye to rog bahut jaldi thik ho jate hai. शरीर के कई प्रकार की नाड़ी ग्रंथियों तथा चैतन्य बिन्दु से सम्बन्धित प्रतिबिम्ब बिन्दुओं का आभूषणों से गहरा सम्बन्ध है। आज से लगभग 6-7 हजार साल पहले आभूषणों का प्रयोग मिस्र में किया जाता है। आज मिस्र के पिरामिडों के अवशेषों से पता चलता है कि इन आभूषणों के प्रयोग से कई प्रकार के रोग ठीक हो जाते थे।

        सिन्धु घाटी की सभ्यता आज से लगभग 5 हजार वर्ष पुरानी है। इस सभ्यता से भी पता चला है..........

>>Read More

  रोग में ठीक त्रिधातु का पेय

With acupressure treatment, if the beverage of tri-metal is given to the patient everyday,एक्यूप्रेशर चिकित्सा के द्वारा रोगों को जल्दी ठीक करने के लिए कुछ पेय पदार्थ लिए जाए तो रोग बहुत जल्दी ठीक हो जाते हैं। पुराने से पुराने रोगों को ठीक करने के लिए एक्यूप्रेशर चिकित्सा करने के साथ-साथ रोगी को प्रतिदिन त्रिधातु पेय पिलाया जाए तो रोग जल्दी ही ठीक हो जाता है तथा इस पेय पदार्थ का सेवन करने से व्यक्ति लम्बी आयु तक स्वस्थ रहता है।

        पुराने जमाने में राजा महाराजा सोने-चांदी के बर्तनों में खाना खाते थे...........

>>Read More