चुम्बकों द्वारा रोगमुक्ति


चुम्बकों द्वारा रोगमुक्ति


खून के द्वारा रोगमुक्ति

प्राचीन समय में एशिया माइनर में मैग्नीशिया नामक स्थान पर कुछ काले पत्थरों की खोज की गई जिनका नाम इसी स्थान के नाम पर मैग्नेट रखा गया। मैग्नेट शब्द अंग्रेजी में है और हिन्दी में इसका अर्थ चुम्बक होता है। चुम्बक को लाडस्टोन या नेचुरल मैग्नेट के रुप में भी जाना जाता है। जब इन पत्थरों को स्वतन्त्र रुप से हवा में लटका दिया जाये तो ये पत्थर अपनी पहले की स्थिति में आ जाते हैं तथा एक निश्चित दिशा की ओर संकेत करते हैं इसलिए इन पत्थरों को लोडस्टोन कहा जाता है। इन पत्थरों में एक विशेष प्रकार का गुण भी पाया जाता है जो लोहे तथा ऑक्सीजन के रूप में एक ऑक्साइड का निर्माण करता है। इसका वैज्ञानिक भाषा में...........

>>Read More

Chumbak sharer ke vibhinn angon ki kriya ko saamany dasha deta hai jisase visham kriya ke rog khud hi nasht ho jate hai. Isliye ise bahariy prayog tatha sthanik prayog ki sangya di ja sakati.   रोगदमन तथा रोगमुक्ति

सूचीवेधन बिन्दु मनुष्य के शरीर की बाहरी सतह पर पाए जाते हैं जिन्हे रोग-लक्षणों को ठीक करने के लिये वेधा, दबाया या गरमाया जाता है। शरीर पर पाये जाने वाले ये बिन्दु अपने गुणों में भिन्न होते हैं तथा जो समान गुणों वाले बिन्दुओं को एक कल्पित डोरी या मार्ग से परस्पर जोड़ देते हैं जिसे एक मोतियों वाले हार समान कहा जाता है। मनुष्य के शरीर में पाये जाने वाले सूचीवेधन बिन्दु को 14 भागों में बांटा जाता है- इनमें 12 युगल माध्यम तथा 2 एकल माध्यम होते हैं। युगल माध्यमों का नामकरण छोटी आंत, फेफड़े, पित्ताशय  ...........

>>Read More

चुम्बक का रोगों में उपयोग 

जिस प्रकार दूसरी चिकित्साओं में औषधियों का प्रयोग रोगों का उपचार करने के लिए किया जाता है ठीक उसी प्रकार चुम्बक चिकित्सा में भी चुम्बकों का प्रयोग रोगों को ठीक करने के लिये किया जाता है। चुम्बक को रोगों को ठीक करने के लिये एक अत्यन्त शक्तिशाली हथियार माना जाता है। चुम्बक रोगी के ज्ञान, बुद्धि और विवेकशीलता को मिलाकर उन होठों की खोई हुई मुस्कान को वापस ले आता है जिन्हे रोगी कब का भूल चुका होता है। हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि हर चिकित्सा में धैर्य, दया एवं विवेक सफलता के गुण माने जाते हैं। ठीक इसके विपरीत असावधानी तथा जल्दबाजी असफलता के गुण है। लगभग हर तरह की ..........

>>Read More