चयापचय


चयापचय

(Metabolism)


परिचय-

     शरीर को जीवित और स्वस्थ बनाए रखने के लिए शरीर की जीवित कोशिकाएं हर क्षण की क्रियाओं के दौरान बहुत से रासायनिक और ऊर्जा (energy) के रूपान्तरण के कार्यों में लगातार संलिप्त रहती है। व्यापक रूप से इन सारी कोशिकीय क्रियाशीलताओं को चयापचय (metabolism) कहते हैं। चयापचय जीवन (life) को बनाये रखता है तथा शरीर की समस्थिति (homeostasis) को प्रगति देता है।

चयापचय के अंतर्गत निम्नलिखित क्रियाएं सम्मिलित होती है- भोजन के पोषक तत्वों (nutrients) का शरीर के ऊतकों द्वारा उपयोग होने वाली ऊर्जा (energy) में बदल जाना, न्यूक्लियक एसिड का उत्पादन, प्रोटींस का संश्लेषित, कोशिकाओं एवं कोशिकीय संरचनाओं की भौतिक रचना, कोशिकीय बेकार पदार्थों का उत्सर्जन तथा ऊष्मा का उत्पादन करना, जो शरीर के तापमान के नियमन में मदद करता है।

     शरीर में होने वाली सारी क्रियाएं भोजन के पोषक तत्वों अथवा रासायनिक यौगिकों पर निर्भर करती है। यह रासायनिक यौगिक शरीर की जरूरत अनुसार ऊर्जा और भौतिक पदार्थों की पूर्ति करते हैं।

  मानव शरीर मेन कैटेगरीज :


मानव शरीर का परिचय    |   एनाटॉमी एवं फिजियोलॉजी­     मानव शरीर संरचना के आधारभूत घटक          कोशिका       पोषण एवं चयापचय        ऊतक           पाचन संस्थान        आच्छदीय संस्थान       अस्थि-संस्थान (कंकाल-तन्त्र)      जोड़ या सन्धियां       पेशीय संस्थान        तन्त्रिका तन्त्र       ज्ञानेन्द्रिया       अन्तःस्रावी तन्त्र        रक्त परिसंचरण       लसीकीय तन्त्र   |   श्वसन-संस्थान       मूत्रीय संस्थान        प्रजनन-संस्थान