केन्द्रीय तन्त्रिका तन्त्र


केन्द्रीय तन्त्रिका तन्त्र

(Central Nervous System-CNS)


मस्तिष्क और सुषुम्ना शरीर के मध्य में चित्र में दिखाए हुए हैं। मस्तिष्क चित्र में दिखाए अनुसार खोपड़ी के अंदर स्थित हैकेन्द्रीय तंत्रिका तंत्र में मस्तिष्क और सुषुम्ना का समावेश होता है। ये मस्तिष्क आवरणों से सुरक्षित रहते हैं। ये प्रमस्तिष्क मूरू-तरल से घिरे होते हैं जो मस्तिष्क और सुषुम्ना के चारो तरफ एक सा दबाब बनाये रखता है और मस्तिष्क और कपालीय अस्थियों के बीच कुशन का कार्य करता है। यह मस्तिष्क और सुषुम्ना को पोषण देता है और उनके व्यर्थ पदार्थों का निष्कासन करता है।

मस्तिष्क और सुषुम्ना शरीर के मध्य में चित्र में दिखाए हुए हैं। मस्तिष्क चित्र में दिखाए अनुसार खोपड़ी के अंदर स्थित है। सुषुम्ना मेरूदण्डीय कशेरूकाओं के अंदर स्थित है। मस्तिष्क और सुषुम्ना तीन झिल्लियों के आवरण से सुरक्षित रहता हैं इसे मेनिनजीस कहते हैं। मेनिनजीस के बीच में प्रमस्तिकीय मेरूरज्जु द्रव भरा रहता है जो कि ऊतको को चोट इत्यादि से सुरक्षा प्रदान करता है।

इस भाग में मस्तिष्क एवं सुषुम्ना (spinal cord) शामिल होते हैं तथा यह मस्तिष्कावरणों (meninges) से पूरी तरह ढका रहता है।

1. मस्तिष्क (Brain)

2. सुषुम्ना (Spinal cord)