एक्यूप्रेशर थैरेपी

Pressure dwara sharer ki maanpeshi tantuon men bhi lachak paida ho jati hai jisase khoon ka sanchar aasani se hota hai aur yah asthipanjar tak ki bimari ko door karata hai.

एक्यूप्रेशर


एक्युप्रेशर और एक्युपंचर का जन्म लगभग एक साथ ही हुआ थाएक्युप्रेशर और एक्युपंचर का जन्म लगभग एक साथ ही हुआ था। कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि इसका जन्म भारत में लगभग 6,000 साल पहले हुआ था और चीनी व्यापारियों के कारण यह भारत से चीन ले जाया गया था। आसान व प्राकृतिक रूप से सहज-सुलभ और लाभकारी होने के कारण चीन के लोगों ने इसे आसानी से अपना लिया जहां चीन में यह चिकित्सा प्रचलित हुई वहीं दूसरी तरफ भारत से इसका पतन हो गया। जिसका मुख्य कारण भारत में विदेशी शासन व आक्रमण से सामाजिक, धार्मिक तथा राजनीतिक जीवन में परिवर्तन का आना था। आज कई देशों के डॉक्टर व विशेषज्ञ इस पद्धति का ज्ञान प्राप्त करने चीन जाते हैं। चीन में एक्युप्रेशर को सर्वाधिक मान्यता प्राप्त चिकित्सा पद्धति के रूप में सदियों से अपनाया जाता रहा है। चीन के प्राचीन ग्रन्थों में एक्युप्रेशर तथा एक्युपंचर के उल्लेख हैं...............

>>Read More

कुछ ख़ास आर्टिकल्स :