अमरकन्द


अमरकन्द

(Eulophia Nuda)


Amarkand meetha, snigdh, teekha, utejak, bhukh badane wala, atyant poushtik hota hai. yeh t.b. ke karan utpan gale ki gantho ya gandmala, sujan, poet ke kide, vat, kaf se utpan vibbhin vikar, phode-phunsiyon, balakon ki khansi aur peeda ko dur karta hai.विभिन्न भाषाओं में नाम :

हिंदी     

अमरकन्द, गोरूमा, अम्बरकन्द, सकाकुल भेद।

संस्कृत   

मालाकन्द, अलिकन्द, पंक्तिकन्द।

मराठी    

मानकन्द, मालेचेकन्द, भुइकली, दावणीचे कन्द।

बंगला    

बुद्वर बारी।

लैटिन    

यूलोफिया न्यूडा, यूरोफिया वायकोलार।

गुण :

          अमरकन्द मीठा, स्निग्ध, तीखा, उत्तेजक, भूख बढ़ाने वाला, अत्यंत पौष्टिक होता है। यह टी.बी. के कारण उत्पन्न गले की गांठों या गण्डमाला, सूजन, पेट के कीड़े, वात, कफ से उत्पन्न विभिन्न विकार, फोडे़-फुंसियां, बालकों की खांसी और पीड़ा को दूर करता है। सूजन को दूर करने के लिए इसके इसके फल को गाय के पेशाब में घिसकर लगाया जाता है और पेट के कीड़ों को नष्ट करने के लिए इसका चूर्ण पानी के साथ देते हैं।

Tags:  Budhar bari, Bhudkali, Alikand, Panktikand, Skakul Bhed