अकलबेर


अकलबेर

Datisca Cannabina


विभिन्न भाषाओं में नाम :

हिंदी      अकलबेर, अकलबार, अकलबीर, बैरबंज।
पंजाबी          भांग जाल, अकिलवीर, ब्रज बंड।
अंग्रेजी          डेस्टिका केनाबिना।
लैटिन      डेस्टिका केनाबिना (Datisca Cannabina)

विभिन्न रोगों में उपयोग :

1. दांत का दर्द : दांत के दर्द में अकलबेर के चूर्ण को दर्द वाले स्थान पर लगाने से आराम मिलता है।

2. खांसी और जुकाम : अकलबेर के चूर्ण को शहद या मिश्री के चूर्ण के साथ रोगी को देने से राहत मिलती है।

3. टायफाइड : अकलबेर को उचित मात्रा में देने से विषम ज्वर, कंठमाला और बेहोशी की स्थिति में लाभ होता है। इसके प्रयोग से गले और वायु प्रणालियों की श्लैष्मिक कलाओं के जलन में लाभ होता है। पुराने बुखार में इसके चूर्ण को जल के साथ देते हैं।

4. सिर दर्द : अकलबेर के जड़ और पत्तों को पीसकर सिर पर बांधने से सिर दर्द में आराम मिलता है।

5. आमवात और गठिया : अकलबेर का प्रभाव अवसादक रूप से होता है। इसका हिम पिलाते हैं तथा इसकी जड़ को पीसकर दर्द के स्थान पर बांधने से लाभ मिलता है।

Tags:  Akalbar, Bhangjaal, Bairbanj, Akalveer, Sirdard, Gathiya, Aamvat, Dant ka dard